मूंगफली आपकी सेहत के लिए कितनी फायदेमंद है | Health Benefits of Eating Peanuts in Winter

Share for who you care
Read this article in english

मूंगफली आपकी सेहत के लिए कितनी फायदेमंद है? (Moongfali khane ke fayde aur nuksaan ) तो आज हम इनके कुछ अद्भुत स्वास्थ्य लाभों के बारे में गहराई से जानेंगे और यह भी जानेंगे कि आपको एक दिन में कितनी मूंगफली खानी चाहिए। किन लोगों को मूंगफली नहीं खानी चाहिए, किस मौसम में मूंगफली खाना सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। मूंगफली आपको क्या नुकसान पहुंचा सकती है? आपको क्या ध्यान रखना चाहिए?

मूंगफली का पोषण मूल्य

मूंगफली को शीतकालीन मेवा कहा जाता है। मूंगफली पोषण का पावरहाउस है (Health Benefits of Peanuts)। इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है जो हमारी मांसपेशियों के निर्माण में मदद करता है। इसमें हेल्दी फैट भी होता है जो हमारे दिल की सेहत को अच्छा रखता है। इसमें विटामिन ई जैसे विटामिन, मैग्नीशियम जैसे खनिज होते हैं जो हमारे समग्र स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। मूंगफली में आपको लगभग सभी आवश्यक विटामिन, खनिज और उच्च गुणवत्ता वाला प्रोटीन मिलता है।

अब बात करते हैं मूंगफली के कुछ स्वास्थ्य लाभों के बारे में जो इसे अपनी श्रेणी में एक सुपर फूड बनाते हैं।

वजन प्रबंधन में फायदेमंद

अगर आप वजन के प्रति सचेत हैं। अगर आप अपने वजन को बढ़ने से रोकना चाहते हैं या वजन कम करना चाहते हैं तो मूंगफली आपकी बहुत मदद करेगी। मूंगफली हमारे वजन प्रबंधन में भी मदद करती है। हम अक्सर सोचते हैं कि मूंगफली खाने से वजन बढ़ सकता है, लेकिन वैज्ञानिक अध्ययन कुछ और ही कहते हैं।

वैज्ञानिक अध्ययन से पता चलता है कि मूंगफली में उच्च प्रोटीन और उच्च फाइबर होता है जो हमें तृप्ति का एहसास देता है। पेट भरा रहता है और इस वजह से हम खाना कम खाते हैं। कम खाना खाने के बावजूद हमें पूरे दिन ऊर्जा मिलती रहती है और कमजोरी बिल्कुल भी महसूस नहीं होती है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि अगर आप वजन कम करने के लिए मूंगफली खाना चाहते हैं तो आपको केवल मूंगफली ही खानी चाहिए। अगर आप अधिक मात्रा में मूंगफली खाते हैं तो इससे आपको नुकसान भी हो सकता है.

मूंगफली में काफी मात्रा में कैलोरी होती है इसलिए अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करेंगे तो आपका वजन कम होने की बजाय बढ़ सकता है।

दिल को स्वस्थ रखें

दिल की सेहत के लिए मूंगफली कैसे फायदेमंद है? मूंगफली हमारे दिल के लिए इतनी अच्छी क्यों हैं (Benefits of eating groundnuts)? शोध से पता चलता है कि मूंगफली में मौजूद स्वस्थ वसा जैसे मोनोअनसैचुरेटेड वसा और पॉलीअनसेचुरेटेड वसा हमारे कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करते हैं।

कुछ लोग यह भी सोचते हैं कि मूंगफली में कोलेस्ट्रॉल होता है। हालाँकि यह सच नहीं है, मूंगफली में बिल्कुल भी कोलेस्ट्रॉल नहीं होता – शून्य कोलेस्ट्रॉल होता है । क्या यह आश्चर्यजनक तथ्य नहीं है? हालाँकि, शून्य कोलेस्ट्रॉल का मतलब यह नहीं है कि आप जी भर कर मूंगफली खाना शुरू कर दें। संयम महत्वपूर्ण है क्योंकि मूंगफली एक कैलोरी युक्त भोजन है। बहुत अधिक खाने से आपका ट्राइग्लिसराइड्स बढ़ सकता है और मोटापा बढ़ सकता है।

मूंगफली में रेस्वेराट्रोल (Resveratrol) जैसे एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं, जो हृदय की इन्फ्लेम्शन को कम करते हैं और रक्त परिसंचरण में भी सुधार करते हैं। इसका मतलब यह है कि नियमित रूप से मूंगफली खाने से आपके दिल की सेहत बेहतर होती है। आपका दिल मजबूत हो जाता है. कोलेस्ट्रॉल लेवल भी नियंत्रित रहता है. बस एक बात का ध्यान रखें कि खाना कम मात्रा में ही खाएं। हम आपको अगले आर्टिकल में बताएंगे कि कितना खाना चाहिए।

           एक और विशेष स्वास्थ्य लाभ यह है कि यह पित्त पथरी को रोक सकता है। यह पित्ताशय की पथरी को भी रोकता है। पित्ताशय की पथरी आजकल एक बहुत ही आम स्वास्थ्य समस्या बन गई है, खासकर महिलाओं में। लेकिन शोध के अनुसार, मूंगफली में मौजूद मैग्नीशियम, स्वस्थ वसा और फाइबर जैसे पोषक तत्व पित्त पथरी के खतरे को कम करते हैं। ये पोषक तत्व पाचन तंत्र को सुचारू रखते हैं और पित्त पथरी बनने की संभावना को कम करते हैं।

त्वचा को चमकदार बनाए रखें

मूंगफली हमारी त्वचा के लिए भी कई तरह से फायदेमंद होती है। मूंगफली विटामिन-ई जैसे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है, जो एक बहुत शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो त्वचा को युवा बनाए रखता है। हमारी त्वचा को मुक्त कणों से बचाता है और जल्दी बूढ़ा होने या त्वचा को होने वाले नुकसान से बचाता है।

मूंगफली में यह विटामिन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, इसलिए अगर आप चाहते हैं कि आपकी त्वचा हमेशा जवां और जवां दिखे तो आपको अपनी डाइट में मूंगफली को जरूर शामिल करना चाहिए।

संयम बहुत जरूरी है. अगर आप इसका सेवन अधिक मात्रा में करते हैं तो यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है। बहुत अधिक मूंगफली खाने से कभी-कभी फोड़े, चकत्ते और एलर्जी हो सकती है।

मधुमेह में लाभकारी

मधुमेह के रोगियों के लिए भी मूंगफली बहुत अच्छा भोजन है। आजकल डायबिटीज एक बहुत ही आम समस्या बन गई है और मूंगफली इसमें हमारी काफी मदद कर सकती है। हालांकि लोग अक्सर सोचते हैं कि मूंगफली खाने से ब्लड शुगर पर बुरा असर पड़ता है, लेकिन असल में मूंगफली ब्लड शुगर को बढ़ने नहीं देती बल्कि उसे बनाए रखती है।

मूंगफली में ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जिसका अर्थ है कि वे रक्त शर्करा के स्तर को तेजी से नहीं बढ़ाते हैं। मूंगफली का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 14 है, जो बहुत कम है। 1 से 55 तक के ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ आमतौर पर मधुमेह रोगियों के लिए सुरक्षित होते हैं। मूंगफली आपके रक्त शर्करा को स्थिर रखती है, जो मधुमेह के प्रबंधन में बहुत सहायक हो सकती है।

इनमें मौजूद स्वस्थ वसा इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाते हैं, जिसका अर्थ है कि वे आपके शरीर को इंसुलिन का बेहतर उपयोग करने में मदद करते हैं। यह मधुमेह नियंत्रण के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है क्योंकि मधुमेह से पीड़ित लोगों में इंसुलिन प्रतिरोध पाया जाता है।

इसलिए, यदि मधुमेह के रोगी अपने आहार में मूंगफली का सही तरीके से उपयोग करें, तो इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि को रोका जा सकता है। या फिर जो नए डायबिटीज के मरीज हैं या जो प्री-डायबिटीज में हैं, तो ऐसे में भी मूंगफली खाने से काफी मदद मिल सकती है।

मांसपेशियों का निर्माण और रखरखाव

अब हम मूंगफली के एक और अनोखे फायदे के बारे में बात करेंगे जो है मांसपेशियों का निर्माण और रखरखाव। अगर आप मसल्स बनाना चाहते हैं या अपनी बॉडी को मेंटेन करना चाहते हैं तो मूंगफली आपके लिए बहुत अच्छा आहार हो सकता है।

मूंगफली में उच्च मात्रा में प्रोटीन होता है जो मांसपेशियों के निर्माण और मांसपेशियों की मरम्मत के लिए आवश्यक है। जब हम वर्कआउट करते हैं, तो हमारी मांसपेशियों को रिकवरी और विकास के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है।

प्रत्येक 100 ग्राम मूंगफली में लगभग 27 से 35 ग्राम प्रोटीन होता है। जो इसे पौधे-आधारित प्रोटीन का एक उत्कृष्ट स्रोत बनाता है, खासकर यदि आप शाकाहारी हैं। इसलिए आपको मूंगफली जरूर खानी चाहिए ताकि आपकी मांसपेशियां ठीक से बन सकें और आपकी मांसपेशियों के अंदर रिकवरी जल्द से जल्द हो सके।

एक दिन में कितनी मूंगफली खानी चाहिए

संयम बहुत जरूरी है।  रोजाना कितनी मूंगफली खाना सुरक्षित है? आमतौर पर आप रोजाना 30 से 60 ग्राम के बीच मूंगफली खा सकते हैं यानी कि आप रोजाना लगभग एक मुट्ठी मूंगफली खा सकते हैं। हालाँकि, यह मात्रा आपकी उम्र, स्वास्थ्य स्थिति और आपके समग्र आहार के आधार पर थोड़ी अधिक या कम हो सकती है।

एक युवा वयस्क जो नियमित रूप से व्यायाम करता है उसे थोड़ी अधिक प्रोटीन की आवश्यकता हो सकती है, इसलिए वह थोड़ा अधिक खा सकता है। वहीं, डायबिटीज के मरीज के लिए मूंगफली की मात्रा को नियंत्रण में रखना बहुत जरूरी है।

मूंगफली कब नहीं खानी चाहिए

अगर आपको किसी भी तरह की एलर्जी या कोई स्वास्थ्य समस्या है तो पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें। आयुर्वेद के अनुसार, मूंगफली आमतौर पर गर्म प्रकृति की मानी जाती है, यानी यह शरीर को गर्मी प्रदान करती है। सर्दियों के मौसम में तो ये अच्छी बात है लेकिन गर्मियों में थोड़ा कम खाना आपके लिए बेहतर रहेगा क्योंकि इससे शरीर में गर्मी बढ़ सकती है।

आयुर्वेद और आधुनिक विज्ञान दोनों ही भीगी हुई मूंगफली खाने की सलाह देते हैं। भीगी हुई मूंगफली खाने से मूंगफली में मौजूद एंटी-न्यूट्रिएंट्स, जो पोषक तत्वों के अवशोषण में बाधा डालते हैं, कम हो जाते हैं और इसकी तासीर भी थोड़ी ठंडी हो जाती है। इसलिए अगर आप गर्मियों में भीगी हुई मूंगफली खाएंगे तो आपको ज्यादा फायदा मिलेगा.

हमें उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और इससे आपको कुछ सीखने को मिला होगा।अगर आपको आर्टिकल पसंद आए तो कृपया शेयर करें, सब्सक्राइब करें और फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *