डिलीवरी से कुछ घंटे पहले प्रसव के संकेत | Symptoms of Labor Pain and Delivery In Pregnancy

Share for who you care

प्रसव आखिर होता क्या है? कब होता है

प्रेगनेंसी के ये पूरे नौ महीने का जो सफर होता है ये इतना भी आसान नहीं होता है। जब महिला गर्भ धारण करती है तो उस time पे घर वाले सभी खुश हो जाते है , महिला भी बड़ी खुश हो जाती है कि घर में एक नन्हा मेहमान आने वाला है लेकिन ये जो सफर होता है इतना आसान नहीं होता है । पूरी प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को बहुत सारी समस्याओं से गुज़ारना पड़ता है ।Last में जो delivery होती है उस समय प्रसव का जो pain होता है उससे भी गर्भवती महिलाओं को गुज़रना होता है। उसके बाद ही आपकी गोद में एक नन्हा शिशु आता है। तो चलिए समझतें हैं  कि प्रसव आखिर होता क्या है? कब होता है और उसके लक्षण क्या होते है

समय से पहले लेबर पेन

प्रेगनेंसी के नौ महीने गुजरने के बाद यानी की पूरे 280  दिन हो जाने के बाद कभी भी महिला का baby deliver हो सकता है और यही वो जो time होता है जिसे doctor EDD यानी की expected delivery date कहते है । इसी date पे या लगभग इसी date के आसपास आपका baby deliver होता है तो ये तो हो गया प्रसव का समय। अब आपको बता दूँ कि जो normal delivery होती है वो 37 हफ्ते से लेके 40 हफ्तों के बीच में होती है। अगर आपका baby 37 हफ्ते से पहले deliver होता है तो ये premature delivery कहलाती है क्योंकि इस दौरान भी आपका शिशु गर्भ में विकसित हो रहा होता है और कई बार होता क्या है कि चालीस हफ्ते गुजरने के बाद भी आपके शिशु का जन्म नहीं होता है । ऐसे में शिशु का जन्म कृत्रिम रूप से करवाया जाता है । महिला को pain के injections दिए जाते है या फिर pain दिलाया जाता है उसके बाद ही महिला की delivery करवाई जाती है ।

कई cases में हो सकता है कि ये जो delivery है ये cesarean भी हो सकती है।  तो delivery से ठीक पहले महिलाओं को प्रसव पीड़ा शुरू हो जाती है जो की काफी पीड़ादायक होती है तो तो चलिए समझतें हैं  कुछ ऐसे लक्षण  जिससे आप समझ सकते है कि आपका labor pain शुरू होने वाला है या फिर आपका प्रसव का समय बिलकुल निकट आ गया है । 

इसे भी पढ़ें: लेबर को पहचाने और कम करें

गर्भाशय ग्रीवा का मुँह चौड़ा होना

 तो सबसे पहला जो लक्षण इसमें देखा से baby deliver होने वाला होता है तो इसी दौरान होता क्या है कि आपकी जो गर्भाशय ग्रीवा होती है वो पतली और मुलायम होने लगती है उसका मुँह चौड़ा होने लगता है खुलने और इसका जो मुँह है ये तक़रीबन 10cm तक खुलना चाहिए और आपका शिशु नीचे आ चुका होता है, शोणि क्षेत्र में दबाव डाल रहा होता है और बाहर निकलने की कोशिश करने लगता है। तो इसके मुँह पे Mucus plug होता है जो कि इस दौरान खून के साथ बाहर निकलने लगता है और इसी दौरान आपको बहुत अधिक पेट में दर्द, पेट के निचले हिस्से में कमर इत्यादि में बहुत अधिक दर्द शुरू हो जाता है, जांघों में भी आपको दर्द होने लगता है और इतना ही नहीं इस दौरान आपका पेट भी खराब हो सकता है और आपको कब्ज की समस्या भी हो सकती है। 

द्रव की थैली का फटना

दूसरी चीज होती है amniotic द्रव की थैली का फटना। दोस्तों ये जो amniotic  द्रव होता है ये अचानक से pregnancy के अंतिम दौर में कभी भी फट सकता है और ऐसे में आपको ऐसा महसूस होगा कि बहुत सारा पेशाब आपका एक साथ हो चूका है जिसका आपको कई बार अंदाज़ा भी नहीं लग पाता है और आपको ऐसा लगता है कि ये बहुत सारा पेशाब हो चूका है ऐसे में महिलाएँ confuse भी हो जाती है जब की ये बहुत सारा जो पेश होता है ये Amniotic थैली का फटना होता है। तो ये condition होती है जब आपका शिशु deliver होने वाला होता है प्रसव से ठीक पहले ये condition आपको हो सकती है लेकिन अगर आपको ऐसा कभी भी इस दौरान notice अगर आप करे तो तुरंत आपको इसके बाद doctor के पास चले जाना है। आपको घर पे wait नहीं करना है कि मुझे प्रसव पीड़ा शुरू होगी तभी मैं doctor के पास जाऊँगी। ये जो condition होती है जब गर्भ में amniotic थैली से पानी का रिसाव हो जाता है तो ऐसे में गर्भ में शिशु जो है वो ना कई दिक्कत में आ जाता है और अगर इसमें बहुत अधिक देर हो जाएगी तो आपके गर्भ में शिशु को इससे काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है। तो इसलिए जब भी ऐसी condition हो तो आपको तुरंत अपने doctor से संपर्क करना है। 

इसे भी पढ़ें: आपकी गलती से प्रसव समय से पूर्व हो जाता है

कमजोरी और थकान 

प्रेगनेंसी के अंतिम दौर में जब प्रसव होने वाला हो तो इस दौरान आपको कमजोरी और थकान बहुत ज्यादा कमजोरी आने लगी है। थकान आपको बहुत ज्यादा लगती हो। नींद आने जैसा बार बार हो या फिर आपको साँस लेने में और भी ज़्यादा कठिनाई हो जिस वजह से आपको कई बार नींद नहीं भी आती है और आपको हर समय बेचैनी हो लेटने का मन करे तो आप इस दौरान समझ जाइए कि ये जो थकान और कमजोरी है ये कहीं ना कहीं प्रसव की ओर संकेत कर रहा है। 

संकुचन बार बार होना

इसके अलावा चौथी बात ये कि इस दौरान आपको संकुचन बार बार होने लगते है। प्रसव जब भी आपका निकट होने लगता है तो ऐसे में आपको पेट में पेट के निचले हिस्से में, पैरों में, कमर में जकड़न, ठंड बहुत ज्यादा महसूस होती है, आपकी माँसपेशियों में बहुत अधिक खिचाव होने लगता है।तो इस दौरान ये जो संकुचन होते हैं, ये जो contractions होते हैं, ये बहुत बड़े संकेत होते पहले तो धीरे धीरे होते हैं लेकिन ये बाद में बहुत तेजी से आपको होने लगते हैं और बहुत कम interval में ये आपको और भी ज्यादा तेजी से होते हैं और यही होता है प्रसव पीड़ा का start होना। तो ये जो संकेत होता है ये बिलकुल सटीक संकेत होता है कि प्रसव पीड़ा शुरू हो चुकी है और आपका प्रसव होने ही वाला है। 

बार बार पेशाब आना 

देखिए प्रेगनेंसी के शुरुआती दौर में और अंतिम दौर में बार बार पेशाब आना बहुत ज्यादा सामान्य होता है लेकिन प्रेगनेंसी के अंतिम दौर में जब आपका प्रसव होने वाला होता है तो इस दौरान भी आपको लगातार पेशाब आने जैसा feel होता है और आपको बार बार पेशाब भी आती है क्योंकि इस दौरान गर्भ में शिशु बाहर निकलने के लिए कहीं ना कहीं push कर रहा होता है तो ऐसे में आपको हर पाँच पाँच minute बाद पेशाब आने लगती है। अगर आपको भी ऐसा feel होता है कि आपको बार बार पेशाब आने जैसा महसूस हो रहा है या फिर हलकी हलकी पेशाब आपको बार बार लगातार पाँच पाँच minute में हो रही है तो आप समझ जाइए कि ये भी कहीं ना कहीं प्रसव का एक संकेत है। 

चिड़चिड़ापन

Mood swings भी कई बार दुबारा से गर्भवती महिलाओं को  अंतिम दौर में होने लगते है जो की pregnancy के शुरुआती दौर में बहुत ज्यादा आम होते है जो की hormonal changes की वजह से होते है और अंतिम दौर में भी ये mood swings ठीक इसी तरीके से देखे जाते है। तो प्रेगनेंसी के अंतिम दौर में अगर आपको भी बहुत ज्यादा mood swings हो रहा है कभी आप हसती है कभी अचानक से रोती है दुखी हो जाती है अचानक से खुश हो जाती है चिड़चिड़ापन बहुत ज्यादा दुखी हो जाती है अचानक से खुश हो जाती है चिड़चिड़ापन बहुत ज्यादा अगर आपको इस दौरान हो जाता है तो ये भी कहीं ना कहीं प्रसव के निकट आने का संकेत है

एक और संकेत जो की इस दौरान आप notice कर सकते है कि आप इस दौरान अपने नन्हे मुन्ने शिशु के आने की तैयारियाँ करने लगते है अगर आप अंतिम दौर में बिना सोचे समझे बच्चे के लिए shopping का लगती है बच्चे की छोटी मोटी चीजों के बारे में अब सोचने लगती है। हर हर उसकी जरूरत का सामान जो है वो बटोरने लगती है। तो ये भी एक बहुत बड़ा संकेत होता है कि इस दौरान आपका शिशु आने वाला है और आपके प्रसव की तैयारियाँ शुरू हो रही है तो ये भी काफी एक बड़ा संकेत होता है। 

तो ये सारे संकेत है ये कुछ चीजें है जो की इस दौरान आपको संकेत देती है कि आपकी प्रसव पीड़ा शुरू ही होने वाली है। 

symptoms seen before labour start in pregnancy, pregnancy delivery ke sanket, labour pain ke sanket , delivery se kuch ghante pehle ke sanket , delivery time ke sanket, signs of pregnancy delivery approaching

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *