गर्भावस्था के दौरान अच्छी नींद पाने के लिए सोने से पहले करें ये 4 काम

Share for who you care

गर्भवती महिलाओं को रात में सोते समय ये तीन से चार काम जरूर करने से लाभ मिलेगा। इन चीजों को करने से आपको अच्छी नींद आएगी, गर्भ में शिशु का विकास अच्छे से होगा, गर्भ में शिशु का वजन अच्छे से बढ़ेगा। जब आप इन टिप्स को फॉलो करेंगे तो आपको रात को सोते समय बार-बार पेशाब करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। पैरों में होने वाली ऐंठन, अकड़न और तनाव जिसके कारण नींद नहीं आती, वह आपके साथ नहीं होगी।

रात को अच्छी नींद बहुत जरूरी है। अगर आपको रात में अच्छी नींद नहीं मिलेगी तो अगले दिन आपको थकान महसूस होगी। आपको सिरदर्द हो सकता है और आप कुछ भी ठीक से नहीं कर पाएंगे, ठीक से खाना नहीं खा पाएंगे. इससे एसिडिटी और कब्ज की समस्या हो सकती है. इसलिए गर्भावस्था के दौरान अच्छी नींद लेना बेहद जरूरी है। तो आइए समझें कि जब आप रात को सोने जा रहे हों तो आपको कौन सी तीन चार चीजें करनी चाहिए।

things to do for sound sleep

तो सबसे पहला कदम यह है कि बिस्तर पर जाने से पहले अपने पैरों के तलवों पर तेल से मालिश करें। आप कोई भी तेल इस्तेमाल कर सकते हैं, नारियल का तेल या सरसों का तेल या जैतून का तेल लेकिन अगर आप देसी घी का इस्तेमाल करते हैं तो यह आपके लिए बेहद फायदेमंद है। आपके पैरों की मालिश करने में केवल 2 से 3 मिनट का समय लगता है। आप अपनी उंगलियों से तलवे को दबा सकते हैं, इससे आपको अधिक आराम मिलेगा।

दूसरी बात आपको यह समझनी होगी कि मसाज के बाद आपको तुरंत खड़ा नहीं होना है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपके पैर तैलीय हैं, जिससे गिरने की संभावना हो सकती है। इसलिए इससे बचने के लिए आपको मोज़े पहनने चाहिए। गर्भावस्था के लिए कम्प्रेशन स्टॉकिंग्स भी आते हैं, बेहतर परिणामों के लिए आप इसका उपयोग कर सकते हैं।

इससे आपका ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होगा। अगर आपको हाइपरटेंशन या माइग्रेन की कोई समस्या है तो भी इस मालिश से आपको फायदा मिलेगा। इसलिए गर्भावस्था के दौरान यह मसाज टिप आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है। इससे आपको अच्छी नींद आएगी और गर्भावस्था का आपका समग्र अनुभव बेहतर होगा।

सोते समय अगली बात जो आपको समझनी होगी वह यह है कि आपको तकिए का उपयोग करना चाहिए। सोते समय ज्यादातर गर्भवती महिलाओं को कमर दर्द की शिकायत रहती है, इसलिए कोशिश करें कि अपनी पीठ पर एक या दो तकिए जरूर रखें। अपने पेट के सामने एक तकिया रखने की कोशिश करें जो कि बेबी बंप को सहारा दे। इसके अलावा आपको अपने घुटनों के बीच कुछ तकिए रखने की भी जरूरत है ताकि किसी भी प्रकार की सूजन से बचा जा सके।

तो यह तकिया तकनीक वास्तव में पीठ दर्द, आपके बेबी बंप को सहारा देने, आपके घुटनों की सूजन को कम करने जैसी कई समस्याओं का समाधान करेगी। आराम से सोने के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए गर्भावस्था के तकिए बाजार में आते हैं, यदि आपके पास बजट है तो आप बेहतर समाधान के लिए इन्हें आज़मा सकती हैं।

इससे रक्त संचार भी बेहतर होगा और शिशु के संपूर्ण विकास के लिए रक्त शिशु तक ठीक से जाएगा। इसमें आपको यह भी समझना होगा कि आपको बायीं करवट लेकर सोना चाहिए। अपनी पीठ के बल या पेट के बल सोने से बचें। आपको अधिकतर समय बाईं ओर करवट लेकर सोना चाहिए। यदि आपका शरीर बदलाव की मांग करता है, तो आप दाईं ओर स्विच कर सकते हैं।

लेकिन बाईं ओर करवट लेकर सोना हमेशा अच्छा होता है। जब आप लेफ्ट करवट की इस पोजीशन में सोएंगे तो ब्लड सर्कुलेशन अच्छा रहेगा। आपके दिल पर दबाव कम होगा। ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होने से शिशु तक खून ठीक से पहुंचता है। इससे शिशु को सही तरीके से ऑक्सीजन और पोषक तत्व मिलते हैं और शिशु के विकास में कोई बाधा नहीं आती है।

अगला काम जो आपको रात को सोने से पहले करना चाहिए वह है गुनगुना दूध पीना। उस गुनगुने दूध में आप केसर के दो या तीन धागे मिला सकते हैं, आप प्रोटीन पाउडर भी मिला सकते हैं। अगर सर्दी का मौसम चल रहा है तो आप इसमें चुटकी भर हल्दी भी मिला सकते हैं। इसलिए जब आप बिस्तर पर जाने से पहले एक कप गुनगुना दूध पिएंगे तो इससे आपको काफी फायदा होगा। इस दूध को आपको घूंट-घूंट करके पीना है। इससे कई समस्याओं का समाधान हो जायेगा। इससे आपको अच्छी नींद आएगी और इससे पैरों में ऐंठन की समस्या भी दूर हो जाएगी जो गर्भावस्था के दौरान होने वाली एक आम बात है।

अब कई गर्भवती महिलाएं बार-बार पेशाब आने की शिकायत करती हैं और यह रात में एक भयानक बात है क्योंकि इससे आपकी नींद में खलल पड़ता है। इसके लिए रात 8:00 बजे के बाद पानी पीना बंद कर देना आपके लिए हमेशा अच्छा रहेगा। इस समय के बाद ज्यादा पानी न पियें क्योंकि इससे आपके लिए समस्या खड़ी हो सकती है। रात को जब आप सो रहे होंगे तो आपको पेशाब करना पड़ेगा। अधिकांश लेखों में हम महिलाओं को प्रतिदिन कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पीने का सुझाव देते हैं। कोशिश करें कि दिन के समय पानी पियें, शाम के समय अधिक पानी पीने से बचें।

nanoplastics in packaged drinking water bottle

Read : Plastic ki Bottle Se Paani Peene Se Garbh Me Shishu Ko Nuksaan 

साथ ही हम यह भी बता दें कि गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी पीना बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन ज्यादातर गर्भवती महिलाएं दिन में कभी भी नारियल पानी पीने की गलती करती हैं, यह आपके लिए अच्छा नहीं है। इससे आपको कोई फायदा नहीं होगा. सुबह 11:00 बजे से पहले पिया गया नारियल पानी ही आपको फायदा देगा। उसके बाद नारियल पानी पीने का फायदा न के बराबर रह जाएगा। इसलिए यदि आप वास्तव में नारियल पानी के सभी फायदे लेना चाहते हैं, तो आपको इसे सुबह 11:00 बजे से पहले पीना चाहिए।

अगर आप देर शाम या रात को नारियल पानी पिएंगे तो इससे आपको रात के समय ज्यादा पेशाब करने की इच्छा होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि नारियल पानी में मूत्रवर्धक गुण होते हैं। इसलिए सुबह 11 बजे के बाद नारियल पानी पीने से बचें।

तो ये कुछ युक्तियाँ हैं जो आपको गर्भावस्था के दौरान रात में सोते समय अपनी गर्भावस्था यात्रा को बेहतर बनाने और गर्भ में बच्चे के बेहतर विकास के लिए करनी चाहिए।

उम्मीद है आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी. यदि आपको यह लेख पसंद आया तो कृपया इसे व्यापक पहुंच के लिए साझा करें। और यदि आप हमारे ब्लॉग पर पहली बार आ रहे हैं, तो कृपया हमें सब्सक्राइब करें और garbhgyan.com को फॉलो करें। Stay Happy | Stay Healthy

 

Doing 4 Things Before Sleeping in Pregnancy Enhance Sleeping Quality and Growth of Baby in Womb, healthy pregnancy tips, sleeping right way in pregnancy,pregnancy, tips for better sleep during pregnancy, how to get sound sleep in pregnancy, best position to sleep during pregnancy, what mistake pregnant women do while sleeping, nanoplastic in bottled drinking water harms baby in womb, pregnancy tips,health tricks and tips english,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *