हरे चने (छोलिया) के फायदे : सर्दियों में जरूर खाएं | Benefits of eating green gram

Share for who you care
Read this article in english

अगर आप शाकाहारी या वेगन हैं तो हम आपको बता दें कि आपको हरे चने को अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए। यह प्लान्ट -आधारित आहार आपके स्वास्थ्य को कई तरह से लाभ पहुंचा सकता है। हरा चना जिसे हिंदी में छोलिया भी कहा जाता है। इनका आकार काले चने जैसा होता है लेकिन रंग हरा होता है। काले चने के विपरीत, हरे चने को पकाने से पहले भिगोने की आवश्यकता नहीं होती है।

आप इसे कच्चा भी खाते हैं तो भी आपको फायदा मिलता है। ये बीन परिवार से संबंधित हैं और केवल सर्दियों में उगते हैं। काले चने की तरह आप हरे चने की भी सब्जी बना सकते हैं। इसके अलावा आप इसे स्प्राउट्स में भी शामिल कर सकते हैं। आपको बता दें कि हरे चने या चने को सुपर फूड कहा जाता है।

हरे चने में मौजूद पोशक तत्व

इसमें विटामिन ए, सी और आई जैसे कई आवश्यक विटामिन होते हैं। इसके अलावा फाइबर, सोडियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सेलेनियम, आयरन, फोलिक, फास्फोरस, कैलोरी, वसा, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, अमीनो अम्ल, फोलेट , फैटी एसिड सहित कई अन्य खनिज होते हैं।

हरे चने खाने के फायदे

आपको बता दें कि हरा चना प्रोटीन का भंडार है। आप अपने बालों को आंतरिक रूप से पोषण देने के लिए हरे चने का सेवन कर सकते हैं। इसे खाने से बालों को अच्छी मात्रा में प्रोटीन मिलता है जो बालों को टूटने, झड़ने और पतले होने से बचाता है।

गर्भावस्था के दौरान हरे चने खाने से आपको फोलेट मिलता है, जो भ्रूण के समुचित विकास में मदद करता है। फोलेट गर्भ में बच्चे को जन्म दोषों से बचाता है। विटामिन बी-9 और फोलेट से भरपूर हरा चना आपको मूड स्विंग्स, चिंता और डिप्रेशन जैसी समस्याओं से दूर रखने में मददगार है।

हरे चने में फाइबर होता है जो पेट के स्वास्थ्य को भी बनाए रखता है। हरा चना आपके पाचन को बेहतर बनाता है।

इसके अलावा हरे चने में भरपूर मात्रा में आयरन होता है जो खून की कमी को पूरा करता है। इसलिए जिन लोगों के शरीर में खून की कमी है उन्हें हरे चने का सेवन जरूर करना चाहिए।

ब्लड शुगर के मरीजों को इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। हफ्ते में आधा कटोरी चना खाने से ब्लड शुगर काफी हद तक कंट्रोल में आ जाता है।

हरे चने में मैग्नीशियम और पोटेशियम प्रचुर मात्रा में होता है जो उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। रक्तचाप को नियंत्रण में रखने से हृदय स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखने में बहुत मदद मिलती है।

हरे चने के सेवन से आप कोलेस्ट्रॉल को आसानी से नियंत्रित कर सकते हैं। स्वस्थ हृदय के लिए नियमित रूप से हरा चना खाएं। यह रक्त में कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण को प्रतिबंधित करता है और इस प्रकार रक्त में एलडीएल या खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर नहीं बढ़ता है। हरे चने के सेवन से कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

हरे चने में प्लांट बेस प्रोटीन होता है जो समग्र मानसिक और शारीरिक शक्ति को बनाए रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। अपने दैनिक आहार में हरे चने को शामिल करके, आप मांसपेशियों के निर्माण, बालों का झड़ना कम करने और मुरझाई त्वचा को फिर से जीवंत करने में मदद कर सकते हैं।

साथ ही यह वजन कम करने और उसे मैनेज करने में भी आपकी काफी मदद कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हरे चने में सोडियम और वसा कम होता है और इसमें अच्छी मात्रा में प्रोटीन भी होता है, जो वजन कम करने और मांसपेशियों को बढ़ाने में काफी मदद कर सकता है। हरे चने को फाइबर का पावर हाउस भी कहा जाता है। फाइबर से भरपूर चीजें खाने से वजन घटाने में काफी मदद मिलती है।

हरे चने में प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है जो आपको लंबे समय तक भूख लगने से बचाता है क्योंकि फाइबर जल्दी पचता नहीं है। इसके अलावा यह शरीर को सभी प्रकार के अमीनो एसिड प्रदान करता है।

विटामिन-ए से भरपूर होने के कारण हरा चना आपकी आंखों के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है।

आपको बता दें कि हरा चना हमारी खूबसूरती के लिए भी बहुत अच्छा होता है। यह प्रोटीन, खनिज और विटामिन का अच्छा स्रोत है जो न केवल कमजोरी को दूर करता है बल्कि शरीर को ऊर्जा भी देता है। जिससे चेहरे पर अपने आप चमक आ जाती है और पेट संबंधी परेशानियां दूर हो जाती हैं।

तो ये थे हरा चना खाने के फायदे। अगर आपको आर्टिकल पसंद आया हो तो कृपया इसे शेयर करें। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *