प्रेगनेंसी में नार्मल डिलीवरी होने के अवसर ऐसे बढ़ाएं | Normal Delivery Tips

Share for who you care
Read this article in english

कई महिलाएं नॉर्मल डिलीवरी के दर्द से बचने के लिए सी-सेक्शन( c -section) का सहारा लेती है। हालाँकि आपकी नार्मल डिलीवरी होगी या फिर सी-सेक्शन (cesarean) इसके पीछे बहुत सारे factors काम करते हैं, बहुत सारे reasons होते हैं। कई बार आपकी pregnancy healthy नहीं होती है, कई बार आपको वो complications हो जाती है। लास्ट टाइम पे कुछ ऐसी चीजें हो जाती है, जिससे कि आपका नार्मल डिलीवरी होते होते भी ऑपरेशन की नौबत आ जाती है।

क्या नार्मल डिलीवरी की संभावनाएं बढ़ाई जा सकती हैं

लेकिन आपकी नार्मल डिलीवरी की संभावनाओं को बढ़ाया जा सकता है और साथ ही आपको दर्द भी कम सहना पड़ेगा। तो इस लेख में आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण tips है, अगर आप चाहती हैं कि आपके normal delivery हो वह भी कम से कम दर्द के साथ , तो क्या-क्या है ये tips जानने के लिए इस ब्लॉग को पूरा पढ़िए बिना स्किप किये।

नॉर्मल delivery होने की संभावना को किस तरीके से बढ़ाया जा सकता है, इससे पहले आपको कुछ ऐसे factors समझने हैं जिससे बहुत ज्यादा chances होते हैं कि आपकी normal delivery ही होगी।

यह फैक्टर्स निर्धारित करते हैं आपकी नार्मल डिलीवरी होगी की नहीं

पहली बार माँ बन रही हैं या नहीं

पहली बात तो ये कि अगर आपका ये सेकंड प्रेगनेंसी है – first baby आपका vaginal delivery से हुआ है यानी कि आपकी नार्मल delivery हुई है। तो आपके chances इस बार भी नार्मल डिलीवरी के काफी ज्यादा बन जाते हैं

प्रेगनेंसी में कितनी जटिलताएं आपको रहीं हैं

इसके अलावा आप अगर physically काफी ज्यादा active हैं, आपको किसी भी तरीके की कोई complications नहीं हैं, आप बेड रेस्ट में नहीं हैं, ना ही आप बहुत ज्यादा कमजोर है, ना ही बहुत ज्यादा वजनी है।

प्रेगनेंसी में और उससे पूर्व आपका चिकित्सिक इतिहास

इसके अलावा अगर आपको किसी भी तरीके की बीमारी ना हो, जैसे कि अस्थमा, उच्च रक्तचाप, आपका ब्लड शुगर, हिमोग्लोबिन ये सब चीजें कंट्रोल में नहीं रहती हैं या फिर सांस की समस्या – तो भी इसमें कहीं ना कहीं डिलीवरी के समय जटिलताएं हो जाती हैं।

गर्भ में शिशु की स्तिथि

अगर गर्भ में शिशु की स्तिथि एकदम सही बानी रहती है तो ही नार्मल डिलीवरी होना संभव हो पता है। ऊपर के ३ फैक्टर्स तभी मान्य हैं जब बेबी की पोजीशन एकदम सही हो। शिशु ३६ हफ्ते के अंत में पेल्विस क्षेत्र में अपने सिर को स्थिर कर चूका होना चाहिए।

अब जान लेते हैं कि आपकी नार्मल डिलीवरी होने की संभावना को क्या चीज बढ़ाती है।
आप अपने स्तर पर ऐसे क्या प्रयास करें की नार्मल डिलीवरी की संभावनाएं बढ़ें।

नार्मल डिलीवरी के अवसर कैसे बढ़ाएं

अपनी मनोदशा को अच्छा बनाएं

पहली चीज आपको इस दौरान इमोशनली स्ट्रोंग करना है, आपको तनाव बिल्कुल भी नहीं लेना है। ये नार्मल डिलीवरी होने में काफी ज्यादा हेल्प करती है। प्रेगनेंसी के दौरान कुछ हार्मोन ऐसे आपके शरीर में बनते हैं जो कहीं ना कहीं आपको तनाव भी देते हैं। इस समय आपका मस्तिष्क भी अनुकूल कार्य नहीं कर रहा होता है। छठे महीने से अगर आप अच्छी-अच्छी पुस्तकें पढ़ती हैं तो इसका डायरेक्ट असर जो है आपके गर्भस्थ शिशु पर पड़ता है।
मधुर संगीत का भी शिशु पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है । जैसी पुस्तकें आप पढ़ेंगी, जैसा म्यूजिक आप सुनेंगी, जिस तरीके का टीवी धारावाहिक आप देखेंगी, जो भी आप सोचेंगे समझेंगे उसका डायरेक्ट असर गर्भस्थ शिशु पर पड़ता है आपको सबसे पहले तो अपना पॉजिटिव attitude रखना होगा। सोच विचार आपको अपने अच्छे रखने होंगे।

फिजिकली एक्टिव रहे

प्रेगनेंसी में आपको physically active रहना है, आपको योग प्राणायाम करना है, walking बहुत ज्यादा जरूरी है आप सुबह शाम सेर सपाटा जरूर करिए।आपको इस दौरान ज्यादा से ज्यादा walk करनी चाहिए, घर के छोटे-मोटे काम इस दौरान आप आसानी से कर सकते हैं, ये आपके लिए ज्यादा फायदेमंद होंगे।

घर के ये काम करें

आप झाड़ू-पोछा करिए, उकड़ू position में बैठकर आप इस दौरान अगर झाड़ू लगाती हैं, पोछा लगाती हैं, तो ये आपके लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है और normal delivery होने के लिए तो ये एक रामबाण की तरह काम करता है।

वजन में नियंत्रण रखें

आपको अपना वजन नियंत्रित करके रखना है। आपके साथ साथ अगर शिशु का वजन भी बहुत ज्यादा होगा तो भी नार्मल डिलीवरी होने के अवसर कम हो जाते हैं। इसके लिए समय समय पर डॉक्टर विजिट में जाते रहे जो की आपको सही मार्गदशन करते रहेंगे। अपने लेवल पे आपको बहुत अधिक खाना नहीं खाना है , तेल घी का प्रयोग कम करना है, बाहर का खाना बिलकुल न खाएं।

डाइट चार्ट फॉलो करें

आपको अपने डॉक्टर से डाइट चार्ट जरूर लेना चाहोये और उसका अनुसरण करना चाहिए। पानी दिन भर में काम से काम 8 से 10 गिलास जरूर पिएं। साथ ही मैं फल, सब्जियां और फलो का जूस जरूर पिएं।

तो ये थे कुछ उपाय, कुछ tricks जिन्हें अपनाकर आप अपने नार्मल डिलीवरी के चान्सेस को बढ़ा सकते हैं। आशा करते हैं आपको ये Blog अच्छा का होगा।
गर्भज्ञान वेबसाइट को सब्सक्राइब अवश्य करें। लेख को पड़ने के लिए और जरूरी बातें समझने के लिए धन्यवाद।

Normal Delivery Tips In Pregnancy

Normal Delivery Ke liye kya karein

Normal delivery ke upaay

One thought on “प्रेगनेंसी में नार्मल डिलीवरी होने के अवसर ऐसे बढ़ाएं | Normal Delivery Tips

  • November 17, 2022 at 6:12 pm
    Permalink

    Very useful information

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *