प्रेगनेंसी में ब्राउन डिस्चार्ज किसका संकेत है | Reason For Brown Discharge During Pregnancy

Share for who you care

प्रेगनेंसी के दौरान हार्मोनल परिवर्तन के चलते गर्भवती महिलाओं के शरीर में बहुत से  लक्षण देखे जाते हैं और हर गर्भवती महिला को इन लक्षणों से होकर गुजरना पड़ता है   क्योंकि यह लक्षण होना गर्भावस्था के दौरान आम होते हैं लेकिन कई गर्भवती महिलाओं में ये लक्षण नहीं भी देखे जाते हैं। इन लक्षणों में उल्टी होना, पेट दर्द होना, कमर दर्द, सिर दर्द सूजन होना, थकान होना जी मचलाना और कई बार इन्फेक्शन या फिर ब्राउन डिसचार्ज भी शामिल होता है। प्रेगनेंसी रहते रहते यह लक्षण आपको दिखाई देते हैं लेकिन जैसे ही आप की डिलीवरी हो जाती है उसके बाद यह समस्या भी महिलाओं की समाप्त होने लगती है, लेकिन इसका यह मतलब भी नहीं है कि प्रेगनेंसी के दौरान आप इन लक्षणों को नजरअंदाज करें। इन्हीं में से एक लक्षण है प्रेगनेंसी के दौरान ब्राउन डिसचार्ज होना जो कि गर्भवती महिलाओं में कहीं ना कहीं गर्भपात की शंका को बढ़ा देता है और महिला इस दौरान काफी ज्यादा घबरा जाती है। 

 ब्राउन डिस्चार्ज क्या होता है

तकरीबन 25 प्रतिशत महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान ब्राउन डिस्चार्ज की समस्या हो जाती है हालांकि यह काफी ज्यादा सामान्य होता है,  जिसमें योनि से लालिया या भूरे रंग का स्त्राव होने लगता है और इसी को ब्राउन डिस्चार्ज कहा जाता है यह महिला के गर्भाशय में जमा हुआ पुराना खून होता है जो कि इस दौरान डिस्चार्ज होता है 

इस ब्राउन डिस्चार्ज में खतरे की बात तब हो जाती है यह डिस्चार्ज बदबूदार हो जाता है   बहुत ज्यादा खुजली और जलन आपको इसके स्त्रावित होने पर होती है  और अगर यह डिस्चार्ज आपको प्रेगनेंसी के दौरान  बहुत ज्यादा हो रहा है तो यह कहीं ना कहीं खतरे की बात हो जाती है ऐसे मैं आपको डॉक्टर से तुरंत सलाह लेनी चाहिए। 

ब्राउन डिस्चार्ज होने के कारण

अभी तक जैसा इस लेख में मैंने बताया है कि ब्राउन डिस्चार्ज होना प्रेगनेंसी के दौरान नार्मल होता है इसमें ज्यादातर घबराने की बात नहीं होती है बल्कि ऐसा होना स्वाभाविक होता है क्योंकि यह गर्भाशय में जमे बेकार पुराने खून को निकाल देता है। 

डिलीवरी का समय नजदीक आने पर भी आपको ब्राउन डिस्चार्ज हो सकता है और यह बात की तरफ इशारा करता है कि आप की डिलीवरी नजदीक आ रही है क्योंकि डिलीवरी नजदीक आने पर गर्भ में शिशु आपके पेल्विक एरिया पर नीचे की साइड दबाव डालता है और जिस कारण ब्राउन डिस्चार्ज होना स्वाभाविक होता है। 

कई बार योनि में इन्फेक्शन होने की वजह से भी ब्राउन डिस्चार्ज हो सकता है और ऐसी स्थिति में आपको डॉक्टर से तुरंत सलाह लेनी है इसमें आपको बिल्कुल भी देरी नहीं करनी है और अपनी स्वच्छता का ध्यान आपको बहुत अच्छे से रखना है। 

मिस्ड अबॉर्शन होना भी गर्भावस्था के दौरान ब्राउन डिस्चार्ज का कारण बन सकता है ऐसी स्थिति में गर्भ का विकास बंद हो जाता है लेकिन ऐसे में जो गर्भाशय में विकसित कोशिकीय  अवशेष होते हैं वह अबॉर्शन के समय गर्भाशय से बाहर नहीं निकल पाते हैं और फिर लगभग 4 सप्ताह के बाद ब्राउन डिस्चार्ज के रूप में यह टीश्यू बाहर निकलने लगते हैं जिनमें से काफी तेज गंध आती है। 

अगर महिला को प्रेगनेंसी में प्लेसेंटा प्रिविआ की समस्या हो जाती है और यह लगातार बनी रहती है तो भी इस दौरान ब्राउन डिस्चार्ज  होना बहुत ज्यादा नॉर्मल होता है। 

गर्भपात होने की स्थिति में भी आपको ब्राउन डिस्चार्ज होता है जिसमें पेट के निचले हिस्से में कमर में आपको दर्द और ऐठन महसूस होती है जो कहीं ना कहीं गर्भपात की तरफ इशारा करती है ऐसे मैं आपको तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करना है बिल्कुल भी देरी नहीं करनी है। 

एक्टोपिक प्रेगनेंसी होने पर भी आपको ब्राउन डिसचार्ज की शिकायत हो सकती है जो कि एक खतरे की बात होती है अगर  शिशु गर्भाशय में न होकर फैलोपियन ट्यूब में विकसित हो रहा है जिसमे आपको चक्कर आने जैसा पेट और पेडू में तेज दर्द बना रहता है और डिस्चार्ज ब्राउन हो सकता है।  

कभी-कभी सर्वाइकल टिशू में वेस्कुलर बढ़ने की वजह से सर्वाइकल पॉली के कारण भी प्रेगनेंसी के दौरान ब्राउन डिस्चार्ज हो सकता है। 

महिला के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन और ब्लड फ्लो बढ़ने के कारण जेनिटल एचपीवी की समस्या होती है जोकि ब्राउन डिस्चार्ज का कारण बनती है

 प्रेगनेंसी में ब्राउन डिस्चार्ज के उपाय

दोस्तों यूं तो प्रेगनेंसी के दौरान डाउन डिस्चार्ज होना बहुत ज्यादा आम होता है लेकिन इसे नजरअंदाज भी नहीं किया जा सकता है क्योंकि यह खतरे की बात भी हो सकती है इसलिए अगर आपको इस तरीके का ब्राउन डिस्चार्ज है जिसमें आपको बदबू, खुजली, जलन इत्यादि महसूस हो रही है या फिर यह रंग बदलता हुआ डिस्चार्ज आपको हो रहा है तो ऐसे में आप अपने डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए, क्योंकि कई बार यह डिस्चार्ज इंफेक्शन भी दे सकते हैं तो इस चीज का ध्यान जरूर रखें। 

अगर आपको अधिक मात्रा में यह ब्राउन डिस्चार्ज हो रहा है तो भी यह कहीं ना कहीं खतरे की बात हो सकती है अगर यह ब्राउन डिस्चार्ज लगातार आपको बना रहता है और मेडिकल जांच के बाद भी यह डिस्चार्ज आपको जारी रहता है तो यह कहीं ना कहीं इंफेक्शन की ओर इशारा करता है  तो ऐसे में आप अपने डॉक्टर से दोबारा से अच्छे से जांच कराएं। 

इसके अलावा आप घर पर साफ सफाई का ध्यान जरूर रखें अपने आप को एक्टिव रखें खुश रखें स्वस्थ रखें सुबह शाम आप हल्के गुनगुने पानी से स्नान करें योग और व्यायाम करें, भारी सामान उठाना और झुकने से इस दौरान बचें, ताकि आपके पेट में और योनि पर दबाव ना पड़े। बहुत लम्बे समय तक एक जगह पर ही ना बैठे या एक जगह पर खड़े रहें, क्योंकि ऐसे में आपके शरीर में ब्लड सरकुलेशन में बदलाव हो जाता है जिसके कारण और भी समस्याएं पैदा होती है। 

तो ब्राउन डिस्चार्ज प्रेगनेंसी के दौरान होना काफी ज्यादा आम है बशर्ते इसमें कुछ परिवर्तन ना हो रहा हो ,आप इसमें घबराए नहीं यह समस्या आपको और आपके घर में शिशु को कोई भी दिक्कत नहीं देगी लेकिन अगर आपको इनमें बदलाव महसूस हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें और इसका अच्छे से ट्रीटमेंट करें कई बार छोटी बीमारियों को नजरअंदाज करना भी ठीक नहीं होता है छोटी बीमारी कब बड़ी बीमारी का रूप लेने यह कहना बहुत ज्यादा मुश्किल हो पाता है इसलिए अपनी प्रेग्नेंसी में अपना ध्यान रखें अपने गर्भ में शिशु की अच्छे से देखभाल करें और खुश रहे मुस्कुराते रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *